List of Branches of Science ✅ विज्ञान की शाखाएं Read Now

List of Branches of Science (Vigyan Ki Shakhayen) ✅ विज्ञान की शाखाएं: Railway, SSC, Bank, Police, MPSC, BPSC, UPPSC, REET परीक्षा या किसी भी प्रतियोगी सरकारी परीक्षा की तैयारी करते समय, उम्मीदवार विज्ञान से पूछे जाने वाले प्रश्नों की संख्या को देखकर भयभीत हो जाते हैं। यही कारण है कि आपके लिए विज्ञान की विभिन्न शाखाओं के बारे में सीखना महत्वपूर्ण है। क्योकि विज्ञान की शाखाएं से सम्बंधित प्रश्न सरकारी परीक्षा में अक्सर पूछे जाते हैं।

List of Branches of Science ✅ विज्ञान की शाखाएं

यदि आप स्कूल या कॉलेज में विज्ञान के छात्र थे, तो आपको ज्यादा परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा, लेकिन अन्य वर्गों के छात्रों के लिए, इस तरह के सवालों का प्रयास करना काफी मुश्किल हो जाता है। समस्या तब होती है जब जीव विज्ञान की विभिन्न शाखाओं से संबंधित प्रश्न पूछे जाते हैं। इसलिए हम आपको इस लेख के माध्यम से एसएससी, बैंकिंग, रेलवे और अन्य सरकारी परीक्षाओं में पूछे जाने वाले विज्ञान की शाखाएं से सम्बंधित कुछ जानकारी प्रदान कर रहे हैं, इसलिए इस लेख को अंत तक पढ़ें और List of Branches of Science के बारे में विस्तृत विवरण प्राप्त करे।

यह भी देखें TechSingh123.com Study channel like top govt jobs:- State-wise Jobs or Qualification-wise Jobs

इस लेख में विज्ञान की प्रमुख शाखाओं की list और table दी गई है अधिक जानकारी के लिए पढ़ें Vigyan Ki Shakhayen (विज्ञान की शाखाएं)।

विज्ञान की प्रमुख शाखाएँ :-

विज्ञान की शाखाअध्ययन का विषय
•अंतरिक्ष विज्ञानअंतरिक्ष यात्रा एवं संबंधित विषय
•मत्स्यविज्ञानमछलियां एवं संबंधित विषय
•अस्थि विज्ञान (आस्टियोलॉजी)अथियों (हड्डियों) का अध्ययन
•पक्षीविज्ञान (आर्निन्थोलॉजी)पक्षियों से संबंधित विषय
•प्रकाशिकी (ऑप्टिक्स)प्रकाश का गुण एवं उसकी संरचना
•परिस्थितिविज्ञान(इकोलॉजी)परिस्थितिकी का अध्ययन
•इक्क्राइनोलॉजीगुप्त सूचनाएं एवं संबंधित विषय
•शरीर-रचना विज्ञान (एनाटॉमी)मानव-शरीर की संरचना
•एयरोनॉटिक्सविमानों की उड़ान
•एग्रोलॉजीभूमि (मिट्‌टी) का अध्ययन
•कीटविज्ञान (एंटोमोलॉजी)कीट एवं संबंधित विषय
•एरेक्नोलॉजीमकड़े एवं संबंधित विषय
•भ्रूणविज्ञान (एम्ब्रायोलॉजी)भ्रण एवं संबंधित विषय
•समुद्र विज्ञानसमुद्र से संबंधित विषय
•ब्रह्माण्डविद्याब्रम्हांड का अध्ययन
•बीज-लेखनगुप्त लेखन अथवा गूढ लिपि
•स्त्री-रोग विज्ञानमादाओं के प्रजनन अंगों का अध्ययन
•भूविज्ञानपृथ्वी की आंतरिक्ष संरचना
•रत्न विज्ञानरत्नों का अध्ययन
•विरूपताविज्ञान (टेराटोलॉजी)ट्‌यूमर का अध्ययन
•टैक्टोलॉजीपशु – शरीर का रचनात्मक संघटन
•त्वचाविज्ञान (डर्मेटोलॉजी)त्वचा एवं संबंधित रोगों का अध्ययन
•डेन्ड्रोलॉजीवृक्षों का अध्ययन
•डेक्टाइलॉजीअंकों (संख्याओ) का अध्ययन
•तंत्रिकाविज्ञान (न्यूरोलॉजी)नाड़ी स्पंदन एवं संबंधित विषय
•मुद्राविज्ञान (न्यूमिसमेटिक्स)मुद्रा – निर्माण एवं अंकन
•रोगविज्ञान (पैथोलॉजी)रोगों के कारण एवं संबंधित विषय
•जीवाशिमकी (पैलिओंटोलॉजी)जीवाश्म एवं संबंधित विषय
•परजीवीविज्ञान (पैरासाइटोलॉजी)परजीवी वनस्पतियां एवं जीवाणु
•फायनोलॉजीजीव-जन्तुओं का जातीय विकास
•ब्रायोफाइटा-विज्ञान (ब्रायोलॉजी)दलदल एवं कीचड़ का अध्ययन
•बैलनियोलॉजीखनिज निष्कासन एवं संबंधित विषय
•जीवविज्ञान (बायलॉजी)जीवधारियों का शारीरिक अध्ययन
•वनस्पति विज्ञानपौधों का अध्ययन
•जीवाणु-विज्ञान (बैक्टीरियोलॉजी)जीवाणुओं से संबंधित विषय
•मारफोलॉजीजीव एवं भौतिक जगत्‌ की आकारिकी का अध्ययन
•खनिजविज्ञान (मिनेरालॉजी)खनिजों का अध्ययन
•मौसम विज्ञान (मेटेरोलॉजी)वातावरण एवं संबंधित विषय
•माइक्रोलॉजीफफूंद एवं संबंधित विषय
•मायोलॉजीमांस-पेशियों का अध्ययन
•विकिरणजैविकी (रेडियोबायोलॉजी)जीव-जंतुओं पर सौर विकिरण का प्रभाव
•शैल लक्षण (लिथोलॉजी)चट्टानों एवं पत्थरों से संबंधित विषय
•लिम्नोलॉजीझीलों एवं स्थलीय जल भागों का अध्ययन
•सीरमविज्ञान (सीरोलॉजी)रक्त सीरम एवं रक्त आधान से संबंधित
•स्पलैक्नोलॉजीशरीर के आंतरिक अंग एवं संबंधित
•अंतरिक्ष जीवविज्ञान (स्पेस बायलोजी)पृथ्वी से परे अंतरिक्ष में जीवन की सम्भावना का अध्ययन
•रुधिरविज्ञान (हीमेटोलॉजी)रक्त एवं संबंधित विषयों का अध्ययन
•हेलियोलॉजीसूर्य का अध्ययन
•उभयसृपविज्ञान (हरपेटोलॉजी)सरीसृपों का अध्ययन
•ऊतकविज्ञान (हिस्टोलॉजी)शरीर के ऊतक एवं संबंधित विषय
•हिप्नोलॉजीनिद्रा एवं संबंधित विषयों का अध्ययन
• खगोलिकी (एस्ट्रोनॉमी)तारों एवं ग्रहों से संबंधित विषय तथा आकाशीय पिंडों का अध्ययन

TechSingh123.com latest sarkari naukri top Govt Jobs in india hand TechSingh123.com TechSingh123 study emoj provides Latest Sarkari Naukri, Sarkari Jobs, Sarkari Results, Government Jobs notifications, Latest Vacancy, Latest Govt Jobs Recruitment updates, Admit Cards, Results.
TechSingh123.com smile Daily Video Jobs Updates are also provided on YouTube so Subscribe Now TechSingh123 study channel TechSingh123.com Study channel

Vigyan Ki Shakhayen (विज्ञान की शाखाएं)

#विवरणविज्ञान की शाखा
1.वनस्पतियों तथा जीव-जंतुओ से सम्बन्धित विज्ञानबायोलॉजी
2.पुरातत्त्व सम्बन्धी विज्ञान की शाखाआरकियोलॉजी
3.खगोलीय पिंडों की गति, संगठन आदि का अध्ययन करने वाला विज्ञानऐस्ट्रोनॉमी
4.सौंदर्यशास्त्र का अध्ययन करने वाला विज्ञानएस्थेटिक्स
5.जीवों के आनुवांशिक लक्षणों के पीढ़ी-दर पीढ़ी हस्तांतरण की प्रक्रिया का अध्ययन करने वाला विज्ञानजेनेटिक्स
6.भू-गर्भ सम्बन्धी अध्ययनजीयोलॉजी
7.शिलालेख सम्बन्धी ज्ञान का अध्ययनएपीग्राफी
8.अस्थियों की विकलांगता व उपचार का अध्ययन करने वाला विज्ञानओर्थोपीडिक्स
9.मानव शरीर की नाड़ियों या तंत्रिकाओं का अध्ययन करने वाला विज्ञानन्यूरोलॉजी
10.पुराने सिक्कों का अध्ययन करने वाला विज्ञानन्यूमिसमैटिक्स
11.विज्ञान की इस शाखा के अंतर्गत स्वर-ध्वनियों का अध्ययन किया जाता है।फोनेटिक्स
12.इस शाखा के अंतर्गत भाषा-विज्ञान का अध्ययन किया जाता है।फिलोलॉजी
13.इस शाखा के अंतर्गत मनोविज्ञान का अध्ययन किया जाता है।साइकोलॉजी
14.यह शाखा जल-विज्ञान से सम्बन्धित है।हाइड्रोलॉजी
15.दवाओं के निर्माण से सम्बन्धित चिकित्सा विज्ञान की एक शाखाफार्मोकोलॉजी

जीव विज्ञान क्या है?

जीव विज्ञान की मूल परिभाषा को जानने से आपको जीव विज्ञान और इसकी शाखाओं के अर्थ को आसानी से समझने में मदद मिलेगी। जीव विज्ञान विज्ञान एक वह शाखा है, जहां हम जीवित जीवों, उनके मूल, शरीर विज्ञान, शरीर रचना विज्ञान, आकृति विज्ञान, व्यवहार और वितरण का अध्ययन करते हैं। बायोलॉजी शब्द ग्रीक शब्द बायोस और लोगो से आया है जिसका अर्थ क्रमशः जीवन और अध्ययन है।

जीवविज्ञान की शाखाएँ

जीवविज्ञान का दायरा व्यापक है, और इसे कई विषयों में विभाजित किया गया है। यहां एसएससी, यूपीएससी, राज्य सेवाओं, रेलवे और बैंकिंग परीक्षाओं में अक्सर पूछे जाने वाले जीव विज्ञान की सभी शाखाओं की एक सूची है। आप पूरी सूची को विस्तार से पढ़ें, और अपनी आने वाली परीक्षाओं में जीव विज्ञान और उसकी शाखाओं से संबंधित प्रश्नों का उत्तर देने में सक्षम होने के लिए उन्हें याद करने की कोशिश करें।

जन्तु विज्ञान की शाखाएँ (Branches of Zoology)

  • एनाटोमी – शरीर एवं विविध अंगो की विच्छेदन द्वारा प्रदर्शित सकल रचना
  • एंथ्रोपोलॉजी – मानव जाति के सांस्कृतिक विकास का अध्ययन
  • एंजिओलॉजी – परिसंचरण तंत्र का अध्ययन
  • एयरोबॉयोलॉजी – उड़ने वाले जंतुओं का अध्ययन
  • एरेकनोलॉजी – मकड़ियों का अध्ययन
  • बायोमेट्रिक्स – जीव विज्ञान के प्रयोगों के विभिन्न परिणामों का सांख्यिकी विश्लेषण व अध्ययन
  • साइकोबायोलॉजी – जंतुओं की मनोवृत्ति का अध्ययन
  • जूजियोग्राफ़ी – पृथ्वी पर जंतुओं के वितरण का अध्ययन
  • पेलियेन्टोलॉजी – जीवाश्मों का अध्ययन
  • फाइलोजेनी – जाती के उद्विकास का इतिहास
  • आन्टोजेमी – जीवन वृत्ति का अध्ययन
  • ट्राफोलॉजी – पोषण विज्ञान
  • प्रोटोजोआलॉजी – प्रोटोजोआ का अध्ययन
  • रेडियोलॉजी – जीवों पर विकिरण प्रभाव का अध्ययन
  • सार्कोलॉजी – पेशियों का अध्ययन
  • सिन्डेस्मोलॉजी – कंकाल संधियों एवं स्नायुओं का अध्ययन
  • सिरोलॉजी – रुधिर सीरम का अध्ययन
  • टेक्टोलॉजी – शरीर के रचनात्मक संघटन का अध्ययन
  • टेक्सोनॉमी – जीवजातियों के नामकरण एवं वर्गीकरण का अध्ययन
  • टटोलॉजी – उपार्जित लक्षणों का अध्ययन
  • टॉक्सिकोलॉजी – जंतुओं के लिए विषैले पदार्थों और शरीर पर इनके प्रभावों का अध्ययन
  • एन्जाइमोलॉजी – उत्प्रेरकों का अध्ययन
  • एंटोमोलॉजी – कीट पतंगों का अध्ययन
  • जेनेटिक्स – जीवों के आनुवंशिक लक्षण एवं उनकी वंशागति का अध्ययन
  • हिस्टोलॉजी – सूक्ष्मदर्शी द्वारा अंगों की औतिक संरचना का अध्ययन
  • हीमेटोलॉजी – रुधिर एवं रुधिर रोगों का अध्ययन
  • हेल्मिन्थोलॉजी – परजीवी कृमियों का अध्ययन
  • हर्पेटोलॉजी – उभयचारियों एवं सरीसृपों का अध्ययन
  • इक्थियोलॉजी – मछलियों का अध्ययन
  • इम्यूनोलॉजी – संक्रमण के विरुद्ध जंतु शरीर के प्रतिरोध का अध्ययन
  • कैरियोलॉजी – केन्द्रक का अध्ययन
  • मार्फोलॉजी – जंतुओं की आकृति एवं रचना का अध्ययन
  • मायोलॉजी – पेशियों का अध्ययन
  • मेमेलोलॉजी – स्तनधारियों का अध्ययन
  • मेलेकोलॉजी – मोलस्का एवं इनके खोलों का अध्ययन
  • मॉलिक्युलर बायोलॉजी – आणविक स्तर पर जंतुओं की रासायनी का अध्ययन
  • माइक्रोबायोलॉजी – अतिसूक्ष्म जीवों का अध्ययन
  • न्यूरोलॉजी – तंत्रिका तंत्र का अध्ययन
  • ऑस्टियोलॉजी – कंकाल तंत्र का अध्ययन
  • ओडोन्टोलॉजी – दन्त विज्ञान संबंधी अध्ययन
  • ऑर्गेनोलॉजी – अंग विज्ञान संबंधी अध्ययन
  • ऑर्निथोलॉजी – पक्षियों का अध्ययन
  • ऑफियोलॉजी – साँपों का अध्ययन
  • फीजियोलॉजी – शरीर के विभिन्न भागों के कार्य एवं कार्य विधियों का अध्ययन
  • पारासिटोलॉजी – परजीवी जीवों का अध्ययन
  • पैथोलॉजी – रोगों की प्रकृति, लक्षणों एवं कारणों का अध्ययन
  • बॉयोमिक्स – जन्युओं के तंत्रिका तंत्र का अध्ययन
  • सायटोलॉजी – कोशिकाओं का बहुमुखी अध्ययन
  • क्रेनिओलॉजी – करोटि का अध्ययन
  • इकोलॉजी – सजीव एवं निर्जीव वातावरण से जीवों के विविध संबंधों का अध्ययन
  • एक्सटर्नल मॉर्फोलॉजी – जीवों के शरीर की बाहरी संरचना का अध्ययन
  • एंडोक्राइनोलॉजी – अन्तःस्त्रावी तंत्रों का अध्ययन
  • इथोलॉजी – जंतुओं के व्यव्हार का अध्ययन
  • एम्ब्रायोलॉजी – भ्रूणीय परिवर्धन का अध्ययन
  • इवोल्यूशन – जीव जंतुओं का उद्भव एवं विभेदीकरण का इतिहास
  • यूजेनिक्स – आनुवांशिकी के सिद्धांतों द्वारा मानव जाती की उन्नति का अध्ययन
  • यूफेनिक्स  – कोशिकाओं में जीन →RNA →प्रोटीन श्रंखला में परिवर्तन करके मानव जाति की उन्नति का अध्ययन

वनस्पति विज्ञान की शाखाएँ (Branches of Botany)

  • एग्रोस्टोलॉजी – घासों का अध्ययन एवं पालन
  • कृषि – फसल का उत्पादन।
  • बायोमेट्रिक्स – जीव वैज्ञानिकों के प्रेक्षणों का गणितीय विवेचन
  • हिस्टोलॉजी – ऊतकों का अध्ययन
  • एल्गोलॉजी – शैवालों का अध्ययन
  • एन्थोलॉजी – फूलों का अध्ययन
  • एग्रोनॉमी– मृदा प्रबंधन और फसल का उत्पादन।
  • ऑलोमेट्री – शरीर के आकार के आकार, शरीर रचना विज्ञान, शरीर विज्ञान और अंत में व्यवहार के संबंध का अध्ययन
  • एनाटोमी – आतंरिक संरचना का अध्ययन
  • टेक्सोनॉमी – पादप वर्गीकरण का अध्ययन
  • स्पर्मोलॉजी – बीजों का अध्ययन
  • स्पेसबायोलॉजी – अंतरिक्ष ततः वायुमण्डल में स्थित पादपों का अध्ययन
  • फाइटोजिओग्राफी – पौधों के वितरण एवं उनके कारणों का अध्ययन
  • टेरिडोलॉजी – टेरिडोफाइट्स का अध्ययन
  • बैक्टीरियोलॉजी – जीवाणुओं का अध्ययन
  • ब्रायोलॉजी – ब्रायोफाइटा का अध्ययन
  • केसीडियोलॉजी – पादप में रोगजन्य गाँठों, पादप कैंसर का अध्ययन
  • साइटोलॉजी – कोशिकाओं का अध्ययन
  • डेंड्रोलॉजी – वृक्षों एवं झाड़ियों का अध्ययन
  • डेंड्रोकोनोलॉजी – वृक्षों की आयु का अध्ययन
  • इकोलॉजी – पौधों का वातावरण से संबंध का अध्ययन
  • इकोनॉमिक बॉटनी – आर्थिक महत्त्व के पौधों का अध्ययन
  • एम्ब्रियोलॉजी – युग्मकों के निर्माण, निषेचन एवं भ्रूण के परिवर्धन का अध्ययन
  • इथेनोबॉटनी – आदिवासियों द्वारा पादप के उपयोग का अध्ययन
  • इवोल्यूशन – सजीवों के विकास प्रक्रम का अध्ययन
  • एक्सोबॉयोलॉजी – अन्य ग्रहों पर संभावित जीवों की उपस्थिति का अध्ययन
  • फ्लोरीकल्चर – सजावटी फूलों का संवर्धन एवं अध्ययन
  • फॉरेस्ट्री – वनों का अध्ययन
  • जेनेटिक्स – आनुवांशिकता एवं विभिन्नताओं का अध्ययन
  • जेनेटिक इंजीनियरिंग – कृत्रिम जीन का निर्माण एवं स्थानांतरण का अध्ययन
  • जेरोन्टोलॉजी – आयु के साथ जीवों में होने वाले परिवर्तन का अध्ययन
  • हेरीडिटी – पैतृक लक्षणों का संतति में पहुंचने का अध्ययन
  • लाइकेनोलॉजी – लइकनों का अध्ययन
  • लिम्नोलॉजी – झीलों तथा अलवणीय जलीय पादपों का अध्ययन
  • माइक्रोबायलॉजी – सूक्ष्म जीवों का अध्ययन
  • मार्फोलॉजी – पादपों का आकारीय संरचना का अध्ययन
  • माइकोलॉजी – कवकों (फफूंद) का अध्ययन
  • माइकोप्लाजमोलॉजी – माइकोप्लाज्मा का अध्ययन
  • निमेटोलॉजी – निमेटोड्स का पादपों का साथ संबंध का अध्ययन
  • पेलियोबॉटनी – पादप जीवाश्मों का अध्ययन
  • पेलिनोलॉजी – परागकणों का अध्ययन
  • पैथोलॉजी – पादप रोगों व उपचार का अध्ययन
  • पिडोलॉजी – मृदा का अध्ययन
  • पेरासिटोलॉजी – पोषिता तथा परजीवियों का संबंध का अध्ययन
  • फाइकोलॉजी – शैवालों का अध्ययन
  • फार्मेकोलॉजी – औषधीय पादपों का अध्ययन
  • फिजियोलॉजी – विभिन्न पादप जैविक क्रियाओं का अध्ययन
  • पॉमोलॉजी – फलों का अध्ययन
  • एग्रोनोमी – फसली पादपों का अध्ययन
  • बायोटेक्नोलॉजी – प्रोटोप्लास्ट का पृथक्करण एवं संवर्धन का अध्ययन
  • रेडिएशन बायोलॉजी – विभिन्न उपकरणों का पादपों पर प्रभाव व उत्परिवर्तन का अध्ययन
  • फाइटोफिजिक्स – भौतिक सिद्धांतों उपापचय में महत्त्व का अध्ययन
  • बॉयोकेमिस्ट्री – सजीवों में कार्बनिक पदार्थों का अध्ययन
  • वायरोलॉजी – विषाणुओं का अध्ययन
  • हार्टीकल्चर – फल, सब्जियों तथा उद्यान पादपों का संवर्धन का अध्ययन
  • मॉलिक्युलर बायोलॉजी – न्यूक्लिक अम्लों ( DNA व RNA ) का अध्ययन
  • सिल्वीकल्चर – वनीय वृक्षों तथा उनके उत्पादों का संवर्धन व अध्ययन
  • टिश्यू कल्चर – कृत्रिम माध्यम पर ऊतकों का संवर्धन का अध्ययन
  • हिस्टोकेमिस्ट्री – कोशिकाओं एवं ऊतकों में विभिन्न रासायनिक पदार्थों की स्थिति का अध्ययन
  • एनाटॉमी – विच्छेदन द्वारा प्रकट एक जीव की आंतरिक संरचना का अध्ययन।
  • पुरातत्व – पुरातात्विक सामग्री के माध्यम से प्राचीन काल के जीव विज्ञान का अध्ययन।
  • मानव विज्ञान – मनुष्य का विज्ञान जिसमें उसका शारीरिक, मानसिक संविधान, सांस्कृतिक विकास और वर्तमान और अतीत की सामाजिक परिस्थितियाँ शामिल हैं।
  • कृषिविज्ञान – आदिम मनुष्य के रीति-रिवाजों का अध्ययन।
  • आर्थ्रोलॉजी – जोड़ों का अध्ययन।
  • एरोबायोलॉजी – अन्य उड़ने वाली वस्तुओं के संबंध में उड़ान जीवों का अध्ययन।
  • बीओसीबेरनेटिक्स – जैव विज्ञान के लिए साइबरनेटिक्स के अनुप्रयोग।
  • जीवाणु विज्ञान – जीवाणुओं का अध्ययन।
  • बायोफिज़िक्स – जीवित प्रणालियों के भौतिक पहलुओं का अध्ययन।
  • बायोकेमिस्ट्री – शरीर और रासायनिक प्रतिक्रियाओं को बनाने वाले रसायनों का अध्ययन।
  • जैव प्रौद्योगिकी – औद्योगिक प्रक्रियाओं में जीवित जीवों का उपयोग।
  • बायोग्राफी – जीवों के भौगोलिक वितरण का अध्ययन।
  • कोशिका जीवविज्ञान – कोशिकाओं के संरचना, कार्यों, प्रजनन और जीवन चक्र का अध्ययन।
  • क्रोनोबायोलॉजी – जीवित जीवों में समय-निर्भर घटनाओं का अध्ययन।
  • क्रानियोलॉजी – खोपड़ी का अध्ययन।
  • क्रायोबायोलॉजी – जीवित जीवों पर कम तापमान के प्रभाव का अध्ययन।
  • साइटोलॉजी – कोशिकाओं की विस्तृत संरचना का अध्ययन।
  • कार्डियोलॉजी – दिल और उसके कामकाज का अध्ययन।
  • डेंड्रोलॉजी – झाड़ियों और पेड़ों का अध्ययन।
  • पारिस्थितिकी – जीवों और पर्यावरण के बीच संबंधों का अध्ययन।
  • ईडोनॉमी – एक जीव की बाहरी उपस्थिति का अध्ययन।
  • एंडोक्रिनोलॉजी – एंडोक्राइन ग्रंथियों और उनके हार्मोन का अध्ययन।
  • नैतिकता – जानवरों के व्यवहार का अध्ययन।
  • नृवंशविज्ञान – विभिन्न मानव संस्कृतियों द्वारा पौधों और जानवरों का इलाज या उपयोग करने के तरीके का अध्ययन।
  • विकास – जीवन की उत्पत्ति, भिन्नता और नई प्रजातियों के गठन का अध्ययन।
  • एटियलजि – रोग के प्रेरक एजेंट का अध्ययन।
  • एन्टोमोलॉजी – कीटों का अध्ययन।
  • यूजीनिक्स – मानव जाति की क्रमिक पीढ़ियों को बेहतर बनाने वाले कारकों से निपटने का विज्ञान का अध्ययन।
  • यूथेनिक्स – विज्ञान पर्यावरण को बदलकर मानवता के भविष्य के सुधार से संबंधित है।
  • युफेनिक्स – आनुवंशिक इंजीनियरिंग के माध्यम से आनुवंशिकता में दोषपूर्ण का उपचार।
  • एंजाइमोलॉजी – एंजाइमों का अध्ययन।
  • भ्रूणविज्ञान – भ्रूण के विकास और इसके विकास और मरम्मत का अध्ययन।
  • एक्सोबायोलॉजी – अंतरिक्ष में जीवन की संभावना का अध्ययन।
  • एस्थिसियोलॉजी – संवेदना का वैज्ञानिक अध्ययन।
  • फूलों की खेती – फूलों की पैदावार की खेती।
  • फोरेंसिक जीवविज्ञान – कानून प्रवर्तन के लिए जीव विज्ञान के आवेदन।
  • किण्वन – अधूरा ऑक्सीकरण की प्रक्रिया जो ऑक्सीजन की अनुपस्थिति में रोगाणुओं और अन्य कोशिकाओं में होती है, जिससे एथिल अल्कोहल का निर्माण होता है।
  • वानिकी – वन का विकास और प्रबंधन।
  • खाद्य प्रौद्योगिकी – खाद्य की वैज्ञानिक प्रसंस्करण, संरक्षण, भंडारण और परिवहन।
  • मत्स्य – मछलियों का पालन, प्रजनन, पालन और विपणन।
  • फोरेंसिक विज्ञान – नागरिकों के विभिन्न तथ्यों की पहचान के लिए विज्ञान का अनुप्रयोग।
  • आनुवांशिकी – आनुवंशिकता और विविधताओं का अध्ययन।
  • वृद्धि – एक जीव के वजन, मात्रा और आकार में स्थायी वृद्धि।
  • जेनेटिक इंजीनियरिंग – जीव को बेहतर बनाने के लिए जीन का हेरफेर।
  • जेरोन्टोलॉजी – उम्र बढ़ने के सामाजिक, मनोवैज्ञानिक, संज्ञानात्मक और जैविक पहलुओं का अध्ययन
  • स्त्री रोग – मादा प्रजनन अंग का अध्ययन।
  • गैस्ट्रोएंटरोलॉजी – एलिमेंटरी कैनाल या पेट, आंत और उनकी बीमारी का अध्ययन।
  • हेमेटोलॉजी – रक्त और इसके कारण होने वाले रोग का अध्ययन।
  • हेपेटोलॉजी – लिवर का अध्ययन।
  • स्वच्छता – स्वास्थ्य का ध्यान रखने वाला विज्ञान।
  • हेल्मिनथोलॉजी – परजीवी कीड़े का अध्ययन।
  • हाइड्रोपोनिक्स-पानी में मिट्टी के बिना बढ़ते पौधे के पोषक तत्व जिसमें पोषक तत्व होते हैं।
  • हाइपोटोनिक – दो समाधानों में जो कम विलेय सांद्रता रखते हैं उन्हें हाइपोटोनिक कहा जाता है।
  • हेरप्टोलॉजी-सरीसृप सरीसृप।
  • हाइड्रोबायोलॉजी – पानी में जीवन और जीवन प्रक्रियाओं का विज्ञान।
  • इम्यूनोलॉजी – विशिष्ट रोगों के लिए प्राकृतिक या अधिग्रहित प्रतिरोध का अध्ययन।
  • इचथोलॉजी – मछली और इसकी संस्कृति का अध्ययन।
  • क्रायोलॉजी – नाभिक का अध्ययन।
  • कटोलॉजी – मानव सौंदर्य का अध्ययन।
  • काइन्सियोलॉजी – मांसपेशियों के आंदोलनों का अध्ययन।
  • कोनोलॉजी – स्वास्थ्य पर इसके प्रभावों के संबंध में धूल का अध्ययन।
  • मास्टोलॉजी – स्तनों का अध्ययन।
  • आकृति विज्ञान – रूप और संरचना का अध्ययन।
  • मोलोग्य – मांसपेशियों का अध्ययन।
  • माइकोलॉजी – कवक का अध्ययन।
  • माइक्रोबायोलॉजी – बैक्टीरिया और वायरस जैसे सूक्ष्मजीवों का अध्ययन।
  • आणविक जीवविज्ञान – आणविक स्तर पर रहने वाले रसायनों का अध्ययन
  • स्तनधारी – स्तनधारियों का अध्ययन।
  • मैमोग्राफी – विज्ञान की शाखा जो स्तन कैंसर से संबंधित है।
  • मेकेनोबायोलॉजी – बायोलॉजी एंड इंजीनियरिंग के इंटरफेस का अध्ययन।
  • नवजात विज्ञान – 2 महीने की उम्र तक नवजात शिशु का अध्ययन।
  • नेफ्रोलॉजी – किडनी का अध्ययन।
  • न्यूरोलॉजी – न्यूरॉन्स और तंत्रिका के छल्ले का अध्ययन।
  • नोसोलॉजी – रोगों का वर्गीकरण।
  • ओस्टियोलॉजी – कंकाल प्रणाली का अध्ययन।
  • ओडोन्टोलॉजी – दांत का अध्ययन।
  • जीव – विभिन्न अंगों का अध्ययन।
  • प्रसूति – प्रसव से पहले, दौरान और बाद में गर्भवती महिलाओं की देखभाल से।

विज्ञान की प्रमुख शाखाओं के जनक

  • जन्तु विज्ञान – अरस्तु 
  • आनुवांशिकी – जी. जे. मेण्डल 
  • विकिरण आनुवांशिकी – एच जे मुलर 
  • आधुनिक आनुवांशिकी – बेटसन 
  • आधुनिक शारीरिकी – एंड्रियास विसैलियस 
  • रक्त परिसंचरण – विलियम हार्वे 
  • वर्गिकी – केरोलस लीनियस 
  • चिकित्सा शास्त्र – हिप्पोक्रेट्स 
  • उत्परिवर्तनवाद – ह्यूगो डी ब्रीज 
  • माइक्रोस्कोपी – मारसेलो माल्पीजी 
  • जीवाणु विज्ञान – रॉबर्ट कोच 
  • प्रतिरक्षा विज्ञान – एडवर्ड जेनर 
  • जीवाश्म विज्ञान – लिओनार्डो दी विन्ची 
  • सूक्ष्म जैविकी – लुई पाश्चर 
  • जिरोंटोलॉजी – ब्लादिमीर कोरनेचेवस्की 
  • एंडोक्राइनोलॉजी – थॉमस एडिसन 
  • आधुनिक भ्रूणिकी – कार्ल ई वॉन वेयर 
  • वनस्पति शास्त्र – थियोफ्रेस्टस 
  • पादप रोग विज्ञान – ए. जे. बटलर 
  • पादप क्रिया विज्ञान – स्टीफन हेल्स
  • बैक्टिरियोफेज – टवार्टव दीहेरिल
  • सुजननिकी – फ्रांसिस गाल्टन 

Note: आप सभी से निवेदन है कि इस जॉब लिंक को अपने दोस्तों को Whatsapp ग्रुप, फेसबुक या अन्य सोशल नेटवर्क पर अधिक से अधिक शेयर करें l आप के एक Share से किसी का फायदा हो सकता है l तो अधिक से अधिक लोगो तक Share करें हर रोज इस वेबसाइट पर आप सभी को, सभी प्रकार की सरकारी नौकरी की जानकारी दिया जाता है। तो आप सभी प्रकार के Sarkari Naukri की जानकारी पाना चाहते हैं तो इस TechSingh123.com वेबसाइट के साथ हमेशा जुड़े रहे हैं और यहां पर Daily Visit करें।

Different Branches Of Science in English

Branch:- Concerning Field

  • Aeronautics– Science of flight of airplanes.
  • Astronomy– Study of heavenly bodies.
  • AgronomyScience dealing with crop plant.
  • Angiology– Deals with the study of blood vascular system.
  • Anthology– Study of flower.
  • Anthropology– Study of apes and man.
  • Apiculture– Honey industries (Bee Keeping).
  • Araneology– Study of spiders.
  • Batracology– Study of frogs.
  • Biochemistry– Deals with the study of chemical reactions in relation to life activities.
  • Biotechnology– Deals with the use of micro-organisms in commercial processes for producing fine chemicals such as drugs, vaccines, hormones, etc. on a large scale.
  • Cardiology– Study of heart.
  • Craniology– Study of skulls.
  • Cryptography– Study of secret writing.
  • Cryogenics– Study concerning with the application and uses of very low temperature.
  • Cytology– Study of cells.
  • Dermatology Study of skin.
  • Ecology– The study of the relationship between organisms and environment.
  • Entomology– Study of insects.
  • Etiology– Study of cause of insects.
  • Eugenics– Study of improvement of the human race by applying laws of heredity. it is related with future generations.
  • Evolution– Deals with the study of origin of new from old.
  • Exbiology– Deals with life or possibilities of life beyond the earth.
  • Floriculture– Study of flower yielding plants.
  • Geology– Study of condition and structure of the earth
  • Genetics– Study of heredity and variations.
  • Gerontology– Study of growing old.
  • Gynaecology– Study of female reproductive organs.
  • Horticulture– Study of garden cultivation.
  • Haematology– Study of blood.
  • Hepatology– Study of liver.
  • Iconography– Teachings by pictures and models.
  • Immunology– Science which deals with the study of resistance of organisms against infection.Jurisprudence– Science of law.Kalology– Study of human beauty.
  • Lexicography– Compiling of dictionary.
  • Mycology– Study of fungi.
  • Myology– Study of muscles.
  • Nephrology– Study of kidneys.
  • Neurology– Study of the nervous system.
  • Numismatics– Study of coins and medals.
  • Obstetrics– Branch of medicine dealing with pregnancy.
  • Oneirology– Study of dreams.
  • Ophthalmology– Study of eyes.
  • Omithology– Study of birds.
  • Osteology– Study of bones.
  • Palaeontology– Study of fossils.
  • Philately– Stamp collecting.
  • Philology– Study of languages.
  • Phonetics– Concerning the sounds of a language.
  • Physiography– Natural phenomenon.
  • Pedology– Stydy of soils.
  • Pathology- Study of disease-causing organisms.
  • Phycology– Study of algae.
  • Physiology– Science dealing with the study of functions of various parts of organisms.
  • Pisciculture– Study of fish.
  • Pomology– Study of fruits.
  • Seismology– Study of earthquakes.
  • SericultureSilk industry(culture of silk moth and pupa).
  • Serpentology– Study of snakes.
  • Telepathy- communication between two minds at a distance with the help of emotions, thoughts, and feelings.
  • Taxonomy– Study of classification of organisms.
  • Virology- Study of the virus.

कृपया, इस List of Branches of Science (Vigyan Ki Shakhayen) ✅ विज्ञान की शाखाएं के जानकारी को अपने दोस्तों और साथ ही साथ अपने भाई-बहनों के साथ भी शेयर करें। एवं उनकी हेल्प करें एवं अन्य सरकारी भर्तियों (Sarkari Naukari), की जानकारी के लिए TechSingh123.com पर प्रतिदिन विजिट करें।

FAQ – Branches of Biology

Q. विज्ञान किसे कहते हैं ?

Ans. प्रकृति के क्रमबद्ध अध्ययन से प्राप्त सुव्यवस्थित ज्ञान को विज्ञान कहते हैं ।

Q. जीव विज्ञान की तीन मुख्य शाखाएँ क्या हैं?

Ans. जीव विज्ञान की तीन मुख्य शाखाएं वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान, सूक्ष्म जीव विज्ञान हैं।

Q. विज्ञान कितने प्रकार के होते हैं?

Ans. विज्ञान की चार प्रमुख शाखाएँ हैं; प्रत्येक शाखा को विभिन्न प्रकार के विषयों में वर्गीकृत किया गया है, जिसमें अध्ययन के विभिन्न क्षेत्रों जैसे कि रसायन विज्ञान, भौतिकी, गणित, खगोल विज्ञान आदि शामिल हैं। विज्ञान की चार प्रमुख शाखाएँ हैं, गणित और तर्क, जैविक विज्ञान, भौतिक विज्ञान और सामाजिक विज्ञान

Q. जीव विज्ञान का आविष्कारक कौन है?

Ans. थॉमस बेडडोस ने 1799 में जीव विज्ञान का आविष्कार किया था।

Q. वनस्पति विज्ञान का जनक किसे कहा जाता है?

Ans. थियोफ्रेस्टस को वनस्पति विज्ञान के पिता के रूप में जाना जाता है।

Q. आप प्राणीशास्त्र शब्द से क्या समझते हैं?

Ans. विज्ञान की वह शाखा जो जानवरों के अध्ययन से संबंधित है, प्राणी विज्ञान कहलाती है।

Q. मानव शरीर से संबंधित विज्ञान की कौन सी शाखा है?

Ans. जीव विज्ञान मानव शरीर के लिए विज्ञान की शाखा है।

Q. क्या जीव विज्ञान की शाखाएं हैं?

Ans. जीव विज्ञान की तीन मुख्य शाखाएं वनस्पति विज्ञान, प्राणी विज्ञान, सूक्ष्म जीव विज्ञान हैं। 

Tags: List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen विज्ञान की शाखाएं List of Branches of Science Vigyan Ki Shakhayen

🎯शिक्षक भर्ती लिस्ट: https://bit.ly/2EO3JPq
🎯सभी राज्य भर्ती: https://bit.ly/2F35f0c
🎯Bank Job list: https://bit.ly/2QQazGT
🎯रेलवे भर्ती लिस्ट: https://bit.ly/2QR66n4
🎯SSC भर्ती लिस्ट: https://bit.ly/3gUB88h
🎯आंगनवाड़ी भर्ती लिस्ट: https://bit.ly/355j09G
🎯पुलिस & सेना भर्ती लिस्ट: https://bit.ly/2QUUCPK
🌐Telegram: https://t.me/techsingh123
🎯8वीं पास All India बंपर भर्ती- https://ift.tt/3evqh3P
🎯10वी पास All India बंपर भर्ती- https://ift.tt/36OyJc0
🎯12वी पास All India बंपर भर्ती- https://ift.tt/2AnTRtb
🎯ITI पास All India बंपर भर्ती- https://ift.tt/2Ma6AlZ
🎯Diploma पास All India बंपर भर्ती- https://ift.tt/2Bc5qUR
🎯Graduate पास All India बंपर भर्ती- https://ift.tt/2ZObehF
🎯B.E/B.Tech पास All India बंपर भर्ती- https://ift.tt/36Lp8m3
🎯PG पास All India बंपर भर्ती- https://ift.tt/2ZNRx9N
error: Content is protected !!
Scroll to Top